The Inquisition (प्रश्नकाल शिविर)

Inquisition (प्रश्नकाल शिविर) मध्यकालीन युग में अपविचार (heresy) को नियंत्रित और सजा देने का चर्च का बहुउपयोगी न्यायिक तरीका था।  ऐसा कोई विचारक जिसके विचार से समाज में चर्च द्वारा चलाये जा रहे तंत्र में बाधा आ जाये या फिर आ सकने की सम्भावना हो, उस विचार को heresy कहते हैं, और ऐसे विचारक को heretic.
   अन्धकार वाले उस युग में करीब करीब सभी वैज्ञानिक विचारधारा वालों को heretic माना गया था और उन्हें Inquisition के द्वारा या तो यातनाएं दी गयी अथवा मृत्यु दंड दिया गया।
   प्रजातंत्र आते आते तक ईशनिंदा (blasphemy) और अपविचार (heresy) को ही गैर कानूनी घोषित कर दिया गया था। अब स्वतंत्र अभिव्यक्ति का युग है।
   बरहाल, Inquisition का अभिप्राय नए युग में बदल कर प्रश्न शिविर के रूप में हो गया है। जहाँ अन्धकारयुक्त मध्ययुग में अपविचार समाज को अव्यवस्थित करने के दोषी प्रेरक माने जाते थे, आज वर्तमान में ऐसे ही कार्य दोष विचारों को षड्यंत्र या साज़िश (Conspiracy) कहा जाता है।
   षड्यंत्र हैं क्या ? षड्यंत्र ऐसा कार्य विधि है जिससे कुछ अव्यस्थित करने का उद्देश्य प्राप्त किया जाता है, बिना स्पष्ट आक्रमण करे। आक्रमण के दौरान विरोधी स्पष्ट होता है, वह सभी लोगो के द्वारा सीधा सीधा पहचाना जा सकता है, उसके तरीके तेवर सीधे हानि पहुचने के होते है।
   मगर षड्यंत्र में हानि पहुचाने वाला छिपा हुआ होता है। उसको सब कोई नहीं पहचान सकता है। वह भीतर घात की विधि प्रयोग करता है और मित्र के रूप में रह कर शत्रुता निभाता है। वह सीधा तारिका तेवर नहीं लगता है बल्कि भ्रम, अस्पष्टता, और कार्य बाधा लाता रहता है।
     मगर इन प्रकार की युद्ध शैली, षड्यंत्र, को पार लगाने का तरीका आज भी वही है। Inquisition. यानी प्रश्नकाल शिविर। जब षड्यंत्र के संदेह वाले पात्र से दीर्घकाल तक सबके समक्ष और सभी के द्वारा पूछताछ करवा कर तथ्यों और उनके प्रेरणा स्रोतों को खोजा जाता है।
    judicial enquiry (न्यायिक जांच) नए युग में Inquisition का ही एक दूसरा रूप है।
    25 सितम्बर 2003 को ब्रिटेन में लार्ड हट्टन (Lord Hutton) के द्वारा करी गयी Judicial Enquiry का BBC पर सीधा प्रसारण किया गया था। enquiry का विषय था ब्रिटेन के एक बड़े जैवयुद्ध के रक्षा वैज्ञानिक डॉक्टर केली की अबुझ मृत्यु का कारण पता लगाना। डॉक्टर केली ही वह जैवयुद्ध रक्षा वैज्ञानिक थे जिनकी रिपोर्ट की आधार बता कर कई सारे समाचार पत्रों ने इराक़ के पास रासायनिक हथियारों का जखेड़ा होने की खबरें प्रकाशित करी थी। बाद में इन्ही खबरों को आधार बता कर अमेरिका और ब्रिटेन ने इराक़ पर हमले किये थे।
      इसी तरह अमेरिका में एक Inquisition हिलेरी क्लिंटन पर भी चला था । 23 जनवरी 2013 को इसका सीधा प्रसारण कई सारे टीवी चैनलों पर किया गया था। हिलेरी क्लिंटन तब राष्ट्रपति ओबामा के प्रशासन में गृहमंत्री (सेक्रेटरी ऑफ़ स्टेट) थीं। लीबिया में बेंगज़हि शहर में अमेरिकी दूतावास पर हमले जिसमे की अमेरिकी राजदूत को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा, के तुरंत बाद हिलेरी की प्रतिक्रियाओं को संदेह की नज़रों से देखा गया था।

    Inquisition या फिर Judicial Enquiry (न्यायिक जांच) षड्यंत्रों का पर्दा फाश करने के लिए आज भी उपयोगी विधि हैं।J

Popular posts from this blog

BODMAS Rule सैद्धांतिक दृष्टि से क्या है?

The STCW 2010 Manila (Scam) Convention

Difference between Discretion and Decision making