Exit Polls चुनावी प्रचार का हिस्सा ही होते हैं

 ऐसा कैसे की बिहार चुनावों में exit poll के नतीजे राजद को बहुमत होने का इशारा कर रहे थे, भाजपा गठबंधन को अल्पमत, 

मगर जब असली नतीजे आये तब उल्टा ही हो गया। जबकि ज्यादातर राज्य चुनावो में exit poll उल्टे ही रहे हैं, भाजपा गठबंधन को ही बहुमत मिलने की भविष्यवाणी करते रहे हैं।

दरअसल, इस बार exit poll भी चुनाव प्रचार का ही हिस्सा है, जो कि वोट पड़ जाने के बाद किया जाता है। exit poll का प्रयोग बिहार चुनावों में लोगो को डराने के लिए हुए है कि यदि राजद आ गई तब भाजपा समर्थको के संग क्या सलूक हो गा ! चुनाव अधिकारियों में भाजपा के समर्थक अधिकारी लोग हेरफेर करके भाजपा को जिताने में लग गए।

बाकी हर बार दूसरे राज्यों में exit poll का प्रयोग होता है भाजपा के हक़ में wave बनाने के लिए कि यदि बहुमत कम पड़े तब आसानी से पार्टनर मिल जाये।

राजद के पास समर्थक वैसे भी गरीब, भूखी जनता थी, जबकि भाजपा ने तो शासन शक्ति के भीतर अपने समर्थक बैठा रखें हैं।


Comments

Popular posts from this blog

The Orals

Why say "No" to the demand for a Uniform Civil Code in India

About the psychological, cutural and the technological impacts of the music songs